सहस्नेह, सप्रेम दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और अभिनंदन के साथ
🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

दीप से दीप जले

दीप से दीप जले
हर जीवन में मुस्कान के फूल खिले
हर गरीब का चूल्हा जले
हर दुकान का शटर खुला करे।  

कोविद के अंधियारे के बाद
एक दीपक ऐसा जले
स्वास्थ्य, समृद्धि  उसमे दिखाई पड़े ।

बच्चो के स्कूल खुला करे
१० से ६ के ड्यूटी ओफ्फिसो में चला करे
सुबह शाम लोग मिला करे।  

इस दिवाली आईये
ऐसा मानवीय शृंखला से जुड़े
अपने से ज्यादा लोगो का भला करें।  
दीप से दीप जला कर  
दिल से दिल मिला कर
हर चेहरे पे खुशियाँ फैलाकर
आर्थिक, सामाजिक सुदृढ़ता बनाकर

सबको एक आशा दिखे
किसी की रीढ़ ना  टूटे
हर घर में दीप जले
पुनरुथान का एक लौ फिर से जले।  

दिवाली की हार्दिक शुभकामनाओं  के साथ
आपका मित्र

बिपुल कुमार