होली की हार्दिक बधाईयां

*होली की हार्दिक बधाईयां*

रंग गुलाल के इस त्यौहार को*
*दिलों के मिठास को*
*प्रेम, बंधुत्व और मानवता की भावना  को*
*हार्दिक अभिनन्दन, स्वागत और शुभकामनायो के साथ*

*आपका मित्र*
*बिपुल कुमार*

*एक होली ठिठोरी मेरे तरफ से भी*
______________________

*मित्रों आयो खेले होली*
*रंग, गुलाल, चन्दन से करे आयो लीपापोती*
*बरज के रज में सन जाएँ*  
*बेसन हल्दी के उपटन लगाए*
*दही मखन से बदन को चाकलेटी बनाये*  
*फिर पास के पोखर में नहलाये*
*फिर देखें होली की असली चमक*
*मित्रों  बुरा न मानो होली है ___*

*थोड़ा करे हँसी ठिठोरी*
*फगुआहाट गायें*
*नाचे और नचायें*
*सतरंगी वेश बनाये*
*गांव की संस्कृति शहरो में*
*और शहरी दिलो में गांव बसाये।*  

*नशा नहीं है भांग और जामो में*
*जो नशा है दोस्तों के हंसी  ठिठोरियों में*
*मित्रों  बुरा न मानो होली है*  __

*मालपूये, गुजिया आयो खाये खिलाये*
*थोड़ा देसी जाम लसि, शिकंजी का पिलाये*
*पान का बीड़ा लॉन्ग इलायची से मुँह महकायें*
*मित्रों अच्छा लगे तो “बोलो होली है”।*  

*यूँ पकड़ा यूँ लपका*
*जो बुरा माने वही है सबसे ज्यादा लटका*
*बैलून भर भर के मारे*
*जिसका निशाना चूका, वो है बच्चा।*

*होली की हार्दिक बधाईयां*

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s